Pancard Banaye-पेनकार्ड बनवाये

Pancard Banaye-पेनकार्ड बनवाये,पेन-कार्ड कैसे बनवाए ,pencard making

आजकल कैसा की सबको किशी काम से बैंक मे खाता खोलना पड़ता है

जैसा की बैंक मे खाता खोलते समय खाता मे पेनकार्ड लगाने की मांग की जाती है । Pancard Banaye-पेनकार्ड बनवाये

जैसा की पेन कार्ड आयकर से जुड़ा एक महत्व पूर्ण खाता होता है जिसमे एक साथ व्यक्ति के कमाई का हिसाब भी रखा जाता है आखिर कार पेन कार्ड कैसे बनता है ।

  • पेन कार्ड बनाने के लिए क्या क्या डोकोमेंट जरूरी है ?
  • खाता खलते समय पेन कार्ड क्यो मांगा जाता है ?
  • पेंनकार्ड के लिए फोरम कैसे भरा जाता है ?

इन सब सवालो के जवाब के लिए हमको इस आर्टिकल को अंत तक पड़ना होगा तब ही जान पाएगे की

कैसे क्या क्या पेन कार्ड से जुड़ी जानकारी है ।

पेन कार्ड के लिए डोकोमेंट

पेन कार्ड को आम बोल चाल की भाषा मे परमानेंट अकाउंट नमबर भी कहा जाता है जैसा की हम जानते है की इसको आयकर विभाग के जरिये चलन मे लाया जाता है । Pancard Banaye-पेनकार्ड बनवाये

  • दस्वी की मार्कशीट
  • आधार कार्ड की फोटो कॉपी
  • दो पासपोर्ट की कॉपी
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • वॉटर कार्ड

जैसा की पेन कार्ड फोरम भरते समय हमको इन सब डोकोमेंट मे सबसे अधिक जरूरत होती है जो है आधार कार्ड अगर इसमे जन्म तिथि भी दिन महीने साल दोनों सही सही हो तो अन्य किशी भी डोकोमेंट की जरूरत नहीं होती है केवल दो पास पोर्ट आकार के फोटो की जरूरत होती है ।

पेन कार्ड का मांगा जाना

जब भी बैंक मे नया खाता खोलने जाते है तो हमसे पेन कार्ड मांगा जाता है जैसा की आजकल किशी भी लें देन जो पचास हजार की होती है पेन कार्ड लगता है ।

जिस दिन हमको जरूरत होती है ऊंचास हजार से अधिक लेने देने करने की उस दिन पेन कार्ड नमबर देने होते है जैसा की आय कर नियम है ।

  • बैंक मे पेन-कार्ड लगाना अनिवार्य करना ।
  • उनचास हजार से अधिक लें देन पर पेन कार्ड नमबर मांगना ।
  • स्कॉलर्शिप मे भी पेन कार्ड नमबर मांगा जाना
  • Pancard Banaye-पेनकार्ड बनवाये

सब कारण से अचानक खाता धारक को किशी समय पेन कार्ड के न होने पर पैसो का लेंन देन नहीं होने से बचने के लिए पेन कार्ड का खाता मे लगाना अनिवार्य किया गया है

फोरम कैसे भरा जाता है ?

जैसा की पेन कार्ड फोरम भरने के लिए क्या क्या जान कारी देनी होती है इस आर्टिकल मे आगे जानेगे ।

  • सबसे पहले के खाने मे पेन कार्ड बनवाने वाले का नाम लिखा जाता है ।
  • ये लिखा जाने वाला नाम भी तीन अलग अलग कॉलम मे भरना होता है ।
  • जैसा की सबसे पहले मेन नाम लिखना होता है जैसा की माना राम ।
  • दूसरे खाने मे मिडल नेम लिखना होता है जैसा की लाल
  • अंत के तीसरे खाने मे नाम मे लिखना होता है सर नेम माना शर्मा है ।
  • इसके बाद के खाने मे पूरा का पूरा नाम एक एक कॉलम का फासला देते हुये देना होता है ।
  • जैसा की राम लाल शर्मा सारा का सारा नाम अँग्रेजी के बड़े अक्षरो मे देना होता है ।
  • जैसा की RAM LAL SHARMA
  • अब बात आती है क्या आप किशी अन्य नाम से भी जाने जाते है ।
  • अगर आप का कोई और नाम भी है तो उसके बारे मे जानकारी देनी होती है ।
  • अगले आने वाले चोथे नमबर पर स्त्री पुरुष यानि की मेल फ़ीमेल की जानकारी देनी होती है ।
  • जैसा की आने अगले कॉलम मे जन्म तिथि का खाना भरा जाता है ।
  • इसके बाद मे पिता का नाम भी भरा जाता है जैसा की मेन नेम मिडल नेम लास्ट नेम आदि ।
  • इसके बाद व्यक्ति का पता जो की आधार कार्ड मे होता है भरा जाता है ।
  • जिसमे जिले और राज्य का नाम साथ मे पिन कोड भी डालना होता है ।

पेनकार्ड मंगाना

जैसा की पते के बाद का जो कॉलम आता है वो है ऑफिस के पते का जैसा की कई बार हम अपने घर से बाहर काम करते है ।

जहा पर ही पेन कार्ड मगाना है तो ऑफिस से वहा काम करने का लेटर भी लगाना होता है ।

  • ऑफिस लेटर लगाने के बाद ही पेन कार्ड उस पते पर भेजा जाता है ।
  • इसके अलावा किरायानामा स्लिप से भी दूसरे पते पर आ जाता है ।

इन सब से पेन कार्ड चाहे पते पर पेन कार्ड आ जाता है लेकिन कई बार आधार कार्ड के पते पर ही भेजा जाता है ।

फोरम मे मोबाइल नमबर भरना

जैसा की पेन कार्ड फोरम मे पता होने के बावजूद भी पेन कार्ड बनाकर भेजे जाने पर भी पेन कार्ड धारक से संपर्क नहीं हो पाता है ।

  • इसलिए उसका मोबाइल नंबर भी फोरम मे भरा जाता है ।
  • जिससे की डाकिये मोबाइल से कॉल कर उसको पेन कार्ड आने की सूचना दे सके ।
  • पेन कार्ड आसानी से डिलवरी किया जा सके ।

स्टेटस ऑफ अप्प्लिकेंट मे क्या है की जानकारी भी देनी होती है । जैसे की individual है या फिर government जो भी है जानकारी देनी होती है ।

आधार कार्ड के बारे मे डाटा

आधार कार्ड के नमबर भरे जाते है जिसके बाद आधार कार्ड का नाम सही सही स्पेलिंग मे डालना होता है । जिससे वेरिफिकेशन होता है ।

  • pencard बनाने वाली सरकारी वैबसाइट का लिंक HERE
  • इस वैबसाइट के जरिये हम आसानी से पेंन कार्ड का फोरम download कर सकते है ।
  • जिसको बताए अनुसार भर कर पास के ई मित्रा से पेन कार्ड का टोकन कटा रशीद ले सकते है ।
  • जिसके बाद पेन कार्ड ऑफिस के जरिये अपना काम किया जाता है ।

जैसा की आधार कार्ड नमबर और नाम दोनों के वेरिफिकेशन होने के बाद ही पेन कार्ड का चालान बन पाता है यदि किशी तरह से ऑनलाइन डाटा मेच नहीं होते है तो पेनकार्ड नहीं बन पाता है।

फोरम मे सलगन

जैसा की अब तक पेन कार्ड के फोरम मे भरा गया फोरम पूरा हो जाता है । अंत मे कुछ जानकारी देनी है जैसा की क्या क्या प्रूफ दे रहे है ।

  • नाम पता का दिया जाने वाला प्रूफ ।
  • जन्म दिनांक का दिया जाने वाला प्रूफ ।
  • साथ मे नाम जो की सरनेम सहित होता है जनकरी देना ।
  • स्थान और फोरम भरे जाने का स्थान बताना ।
  • Pancard Banaye-पेनकार्ड बनवाये

फोरम मे हस्ताक्षर

जैसा की फोरम मे पेन कार्ड बनाने वाले का दो फोटो लगानी होती है । जिसमे बाए और ड़ाए और फोटो लगाई जाती है ।

  • आवेदक को बाए और लगाई जाने वाली फोटो पर हस्ताक्षर करने होते है ।
  • दायी और लगाई जाने वाली फोटो के नीचे हस्ताक्षर करने होते है ।
  • इसके अलावा फोरम के दूसरी तरफ अंत मे कॉलम मे हस्ताक्षर करने होते है ।

इस तरह से फोरम भरते समय तीन स्थान पर हस्ताक्षर किए जाते है । इसके बाद मे फोरम को चालान के लिए अप्लाई किया जाता है।

iti Online App Provider

Lic Ajent Yojana-जीवन बीमा अजेंट योजना

पेनकार्ड अप्लाई कैसे करे

पेंन कार्ड बनाने के लिए ऑनलाइन अप्लाई किया जाता है जिसके लिए एक एनएसडीएल या uti से अजेंसी लेनी होती है । जिसके मधायम से फोरम भरकर ऑनलाइन अप्लाई किया जाता है ।

  • साधारणतया पेन कार्ड का आवेदन ई मित्रा के माध्यम से भी किया जाता है ।
  • अप्लाई करने पर आवेदन सुल्क लगता है ।
  • जिससे आसानी से चालान से अदा किया जाता है ।
  • जिससे पेंन कार्ड सेंटर प्लास्टिक कार्ड का पेन कार्ड आधार कार्ड वाले पते पर भेज देता है ।

पेन कार्ड खोने पर क्या होगा

जैसा की यदि किशी कारण से पेन कार्ड खो गया है या टूट गया है जरूरत पड़ने पर पेन कार्ड दुबारा बनवाना है जिससे की हमारे बैंक के काम हो सके ।

  • पेनकार्ड के खो जाने या खराब हो जाने पर हमको पेन नमबर की जानकारी होना चाहिए ।
  • जैसा की पेन नमबर नहीं है तो शहर के आकार ऑफिस मे जा कर पता कर लेना चाहिए ।
  • पेनकार्ड नंबर को पता करने के लिए हमारे पास अपनी आधार कार्ड की कॉपी जरूर होना चाहिए ।
  • जब पेन नमबर का पता चल जाए तो अलग से डुप्लीकेट पेन का फोरम अप्लाई किया जाता है ।
  • जिसकी भी फीस नए पेन कार्ड बनवाने के बराबर ही लगती है ।
  • जिसका फोरम भर कर पेंन कार्ड नमबर जो की पुराना था की कॉपी और आधार कार्ड की फोटो कॉपी लगाकर भेजना चाहिए ।
  • उसके बाद पेन कार्ड बनाकर आधार कार्ड के पते पर आ जाता है ।

इस तरह से पेन कार्ड को दुबारा बनवाया जाता है । इसकी मान्यता पुराने पेनकार्ड के बराबर ही होती है । जिससे की हमारे आय कर के रिटर्न और बैंक के काम आसानी से हो जाते है ।

पेन कार्ड मे करेक्शन कैसे हो

दस्तो जैसा की हम देखते है की कई बार हमारा या किशि मिलने वाले का पेन कार्ड मे नाम या जन्म दिनांक गलत आ जाती है आखिर क्या कारण है ।

  • जब भी हम पेन कार्ड का आवेदन करते है तो हमारे आधार कार्ड मे जो भी नाम और जन्म दिनाक होती है ।
  • वो ही डाटा हमारे पेन कार्ड मे छाप दिया जाता है या फोरम मे भरा जाता है ।
  • इसके लिए सबसे पहले तो हम फोरम को भरते समय देखे की जो भी नाम लिखा है ठीक से भरा है या गलत भरा है ।
  • जैसे हमारे आधारकार्ड मे नाम जो भी गलत है उसको ठीक कर लेना चाहिए
  • जैसा आधारकार्ड सेंटर से सही कर लिया जाएगा ।

जैसा जब आधार कार्ड मे सही नाम होने पर दूसरा फोरम भर कर भेजा जाता है जिसके बाद सही नाम आदि का पेन कार्ड बनाकर भेज दिया जाता है ।

पेन कार्ड का काम क्या है ?

पेन कार्ड से सही सही रूप मे व्यक्ति की कमाई का पता चलता है साथ ही वो कितना टेक्स देता है की जानकारी भी मिलती है । जैसा की हर साल मे टेक्स रिटर्न भरी जाती है ।

  • आयकर की टेक्स की सालाना रिटर्न पेन नमबर के जरिये भरी जाती है ।
  • जिससे पता चलता है की किसने कितनी इन्कम की है या नहीं की
  • इन्कम के आधार पर ही लोगो को सबसिडी लाभ दिया जाता है ।
  • साथ ही लोन देने के लिए भी इन्कम टेक्स की रिटर्न ही देखी जाती है ।
  • जिससे व्यक्ति के सालाना कमाई का आकलन कर लोन दिया जाता है ।
  • जिसकी जितनी ज्यादा कमाई होती है उसको उतना अधिक लोन सहायता मिलना बैंक निर्धारित करता है ।

जैसा की किशी भी बैंक मे जाते है लोन लेने के लिए तो सबसे पहले व्यक्ति से उसकी पिछले सालो की भरी गयी इन्कम टेक्स रिटर्न का ब्योरा मांगा जाता है । जिससे की उसके कमाई का आकलन किया जा सके ।

जैसा लोन लेता है उसके अनुसार बैंक रिटर्न के बारे मे पूरी जांच कर लोन देता है ।

आवशयकता न्यूज़ चेनल -Nokari

आर्टिकल का उद्देशय

Pancard Banaye-पेनकार्ड बनवाये जानकारी देना है.।

जिससे की कोई भी आसानी से अपना पेन कार्ड बनवा सके साथ ही उसको पेन कार्ड के लाभ की जानकारी भी मिल सके ।

  • पेन कार्ड का उपयोग लोन लेने मे ।
  • पेन कार्ड से बैंक खाता कैसे खुलता है ।
  • अधिक धन राशि लें देंन मे आवशयक ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *